Monday, 22 January 2018

इतनी बेचैनी से तुमको किसकी तलाश है,


इतनी बेचैनी से तुमको किसकी तलाश है,
वो कौन है जो तेरी आंखों की प्यास है,
जबसे मिला हूं तुमसे यही सोचता हूं मैं,
क्यों मेरे दिल को हो रहा तेरा एहसास है,
जिंदगी के इस मोड़ पे तुम आके यूं मिले,
जैसे कि कोई मंजिल मेरे इतने पास है,
एक नजर की आस में तकता हूं मैं तुझे,
अब देख तेरे खातिर एक आशिक उदास है।

Image may contain: 1 person
ज़िन्दगी के इन लम्हों में,तुम नज़र आए हमें
प्यार के बिख़रे पलों में, तुम नज़र आए हमें
क्यों न चाहा था,न जाने, दिल को भी तरजीह दें
क्यों न चाहा था कि दिल से,दिल किसी का जीत लें 
ज़िन्दगी की साँसतों में, तुम नज़र आए हमें
प्यार के बिख़रे पलों में, तुम नज़र आए हमें
दोस्ती क्या हम निभाते, दुश्मनों की भीड़ में
क्या लिखा है,ये न जाना,इस मेरी तक़दीर में
ज़िन्दगी की उलझनों में,तुम नज़र आए हमें
प्यार के बिख़रे पलों में,तुम नज़र आए हमें
क़शमक़श में दिल यूँ डूबा,मुस्कराहट खो गई
रौशनी नज़रों में थी,पर जगमगाहट खो गयी
ज़िन्दगी की हसरतों में, तुम नज़र आए हमें
प्यार के बिख़रे पलों में, तुम नज़र आए हमें
ज़िन्दगी के इन लम्हों में,तुम नज़र आए हमें
प्यार के बिख़रे पलों, में तुम नज़र आए हमें
तरजीह- वरीयता, प्राथिमिकता, प्रमुखता
साँसतों में- परेशानियों में
क़शमक़श - उहापोह की स्थिति
हसरतों में- आकांक्षा- इच्छा
Image may contain: 1 person, smiling, standing and outdoor

जिंदगी मुश्किलो से भरी हो भले





जिंदगी मुश्किलो से भरी हो भले
होसलो से सभी को मिटा दीजिए

कुछ तो मॆरी वफा का सिला दीजिए
दर्द दिल का बढ़ा अब दवा दीजिए


लौट के आएगी रौनकें फिर चमन
फासले गर दरमिया मिटा दीजिए

रूठने से तेरे ज़ीस्त बेकल मॆरी
हो गई है खता गर सजा दीजिए

ज़ीस्त को भी मॆरी चैन मिल जाएगा
हमनवा इक दफा मुस्कुरा दीजिए

कोयलो के भी सुर आपसे है सनम
आज फिर गीत कोइ गुनगुना दीजिए

इल्तिजा है खुदा तुझसे महबूब का
साथ मुमकिन नही तो कजा दीजिए

स्वर्ण बनता है कुंदन अनल गोद मे
आज ये दिल तुम अपना तपा दीजिए ॥






जब प्यार किसी से होता है
हर दर्द दवा बन जाता है
क्या चीज मुहब्बत होती है
एक शख्स खुदा बन जाता है
ये लब चाहे खामोश रहें
आँखों से पता चल जाता है
कोई लाख छुपा ले इश्क मगर
दुनिया को पता चल जाता है
जब इश्क का जादू चलता है
सेहरा में फूल खिल जाता है
जब कोई दिवाना मचलता है
तब ताजमहल बन जाता है
Image may contain: 1 person, smiling, standing, ocean and outdoor
बेवजह बस वबाल करते हो
जिंदगी को मुहाल करते हो
न किसी का खयाल करते हो
जान! कितने सवाल करते हो
जी दुखाते हो पहले जी-भरकर
बाद मन में मलाल करते हो
अश्क देते हो पहले आँखों को
बाद हाजिर रूमाल करते ह
खुद ही बर्खास्त करते हो दिल से
खुद ही वापिस बहाल करते हो
अपनी तिरछी निगाह से पढ़कर
मेरा चेहरा गुलाल करते हो
जब नजर को नजर समझती है
लफ्ज क्यों इस्तेमाल करते हो
मुझपे केवल सिवम सितम केवल
गैर को ही निहाल करते हो
पल में शोला तो पल में शबनम हो
तुम भी सचमुच कमाल करते हो

Image may contain: 1 person
 

तेरी चाहत अब मेरी आँखों में है

तेरी चाहत अब मेरी आँखों में है  Jaan Dene Ko Pahoche Tha Sab Teri Gali Main  Jab Kutta Picha Pada To Kisi Ne Palat Nahi Dekh...